Pari Digital Marketing

success behind you

Breaking

Sunday, 27 October 2019

Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time

Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time
Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time
Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time


दिवाली के  दिन मुख्य रूप से  लक्ष्मी देवी और धन और समृद्धि की पूजा की जाती है।
इस पर्व को मनाने से सम्बंधित बहुत कथाये है पर सबसे ज्यादा जो माना जाता है की भगवान राम रावण पर विजय पाकर अयोध्या वापस लोटे थे , दिवाली के दिन राम दरबार के साथ श्री गणेश और माता लक्ष्मी की जी की पूजा की जाती है

दीपों का त्योहार दीपावली रविवार २७/१०/२०१९ को बड़े ही हर्षोल्लास और उत्साह के साथ मनाया जा रहा है  इस दिन देवी लक्ष्मी की पूजा के साथ घरों को रोशनी के साथ ही फूलों से सजाया जाता है।

क्यों मनाया जाता है दिवाली का त्यौहार 
 यह वह  दिन है जब भगवान राम, देवी सीता, लक्ष्मण और भगवान हनुमान 14 साल के वनवास के बाद अयोध्या लौटे थे। यह त्योहार हिंदू महीने कार्तिका में मनाया जाता है। दिवाली साल के सबसे काले दिन के साथ मेल खाती है, जिसे अमावस्या के रूप में जाना जाता है। दिन हिंदू चंद्र कैलेंडर का सबसे काला दिन है।
ऐसा माना  जाता है की , अयोध्या का राज्य मिट्टी के दीयों या दीयों से जगमगा उठा था, जिसमें लोग आनन्दित थे और भगवान राम की वापसी का जश्न मना रहे थे।
अयोध्या का साम्राज्य मिट्टी के दीयों से जगमगा उठा था और लोगों ने अपने घरों को दीयों से सजाया था, आनन्दित किया था और भगवान राम और उनकी सेना के स्वागत में की घर वापसी का जश्न मनाया था।

Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time
दिवाली के दिन क्या किया जाता है 
दिवाली के मुख्य दिन, देवी लक्ष्मी, या धन और समृद्धि की देवी की पूजा की जाती है। भक्तों ने घर में हल्की दीये जलाए और जश्न में पटाखे भी फोड़े। लोग उपहारों, मिठाइयों का आदान-प्रदान करते हैं और बड़ों का आशीर्वाद लेते हैं। मिठाईया बांटते है

दिवाली का शुभ मुहूर्त  : Laxmi Pujan ka Sahi Samay

27 अक्टूबर, 2019 रविवार को दिवाली लगन पूजा

पूजा मुहूर्त : ०६:४३ PM से ८:१५ PM
अवधी : एक घंटा ३२ मिनट

कुंभ लगन मुहूर्त (दोपहर) - दोपहर 2:21 से दोपहर 3:57 तक

अवधि - 1 घंटा 37 मिनट

वृष लगन मुहूर्त (शाम) - शाम 7:15 बजे से रात 9:15 बजे तक

अवधि - 2 घंटे 00 मिनट

सिम्हा लगन मुहूर्त (मध्यरात्रि) - 1:41 बजे से 3:49 बजे, 28 अक्टूबर 2019 तक

अवधि - 2 घंटे 8 मिनट

अमावस्या तिथि 27 अक्टूबर 2019 को दोपहर 12:23 से शुरू होगी

अमावस्या तीथि समाप्त :28 अक्टूबर 2019 को सुबह 9:08 बजे होगी

लक्ष्मी पूजन की सामग्री :
दिवाली पूजा के लिए जरुरी सामग्री - पान, सुपारी, लौंग, इलायची, धुप, कपूर , घी ,तेल , दीपक मोमवत्ती, ठीका , चावल , कलावा , नारियल , गंगा जल , जल, फूल, मिठाई , दूर्वा , चन्दन,   खील , बतासे , खिलोने , चौकी , फूलो की माला , संख, गणेश  लक्ष्मी की मूर्ति , थाली , और दिये , और आप जो और चले वह श्रद्धा से जमा कर सकते है

लक्ष्मी पूजन की विधि :
एक साफ सुतरी जगह पर चौकी रखा कर उस पर नारंगी कपड़ा को पीछा के भगवान का आशान तैयार करे
उस पर थे आटे  की मदत से नवग्रह वनाये /
स्टील का कलश या कॉपर का कलश में दूध , दही , सहद , गंगाजल , लॉन भरकर लाल कपडे से बांध दे
और इसके ऊपर नारियल रख दे
चौकी पर लक्ष्मी जी, गणेश जी की प्रतिमा का स्थापित करे
श्रद्धा अनुसार भोग लगाए , दिए जलाये, और अपने पास के पैसो की पूजा करे /
प्रशाद वांटे ,

Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time

लक्ष्मी जी की आरती :

ॐ जय लक्ष्मी माता,
 मैया जय लक्ष्मी माता,

| तुमको निशदिन सेवत,
 मैया जी को निशदिन सेवत
 हरि विष्णु विधाता,
ॐ जय लक्ष्मी माता,
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| उमा, रमा, ब्रह्माणी,
तुम ही जग-माता सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत,
 नारद ऋषि गाता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| दुर्गा रुप निरंजनी,
सुख सम्पत्ति दाता जो कोई तुमको ध्यावत,
ऋद्धि-सिद्धि धन पाता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| तुम पाताल-निवासिनि,
तुम ही शुभदाता कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी,
भवनिधि की त्राता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| जिस घर में तुम रहतीं,
सब सद्गुण आता सब सम्भव हो जाता,
 मन नहीं घबराता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| तुम बिन यज्ञ न होते,
वस्त्र न कोई पाता खान-पान का वैभव,
सब तुमसे आता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर,
क्षीरोदधि-जाता रत्न चतुर्दश तुम बिन,
कोई नहीं पाता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |

| महालक्ष्मीजी की आरती,
जो कोई नर गाता उर आनन्द समाता,
पाप उतर जाता
ॐ जय लक्ष्मी माता
ॐ जय लक्ष्मी माता |
मैया जय लक्ष्मी माता तुमको निशदिन सेवत,
 मैया जी को निशदिन सेवत हरि विष्णु विधाता,
ॐ जय लक्ष्मी माता)

Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time
Diwali 2019 Puja vidhi, Muhurat Timing, Puja Samagari, Arti and Puja: Laxmi Pujan Shubh Time

दिवाली सन्देश 
आपका जीवन यश , कीर्ति और वैभव के धन से हमेशा ही भरपूर रहे ||
शुभकामनाओं के साथ दीपावली की पवन ज्योति आपके समस्त परिवार  को सुख समृद्धि और शांति का प्रकाश प्रदान करे || 

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

WooCommerce