Pari Digital Marketing

success behind you

Breaking

Monday, 30 March 2020

10 लाख एंड्रॉइड यूजर्स पर Tekya का खतरा, आपका व्यक्तिगत डाटा लग सकता है हैकर्स के हाथ

Thanks For Visit My Website
10 लाख एंड्रॉइड यूजर्स पर Tekya का खतरा, आपका व्यक्तिगत डाटा लग सकता है हैकर्स के हाथ
बढ़ रहे इंटरनेट यूज़ को देखते हुए गूगल प्ले स्टोर पर हैकर्स का ध्यान बढ़ता जा रहा है क्युकि व्यक्ति प्ले स्टोर से किसी भी एप्प को बहुत आसानी से डाउनलोड कर सकते है यही कारण है कि हैकर्स समय समय पर अपने एप्प प्ले स्टोर पर अपलोड करने की कोशिश करते रहते है। ऐसे एप्प से हमें सावधान रहना चाहिए।
10 लाख एंड्रॉइड यूजर्स पर Tekya का खतरा, आपका व्यक्तिगत डाटा लग सकता है हैकर्स के हाथ


हम सभी जानते हैं कि गूगल प्ले स्टोर पर कई ऐसी ऐप्स मौजूद हैं जो मालवेयर से प्रभावित होती हैं। इनमें से जिन ऐप्स को पहचान लिया जाता है उन्हें गूगल अपने प्लेटफॉर्म से रिमूव कर देता है। हालांकि, कुछ ऐप्स रह जाती हैं जिनका पता नहीं लग पाता है और यही ऐप्स यूजर्स की जानकारी के लिए खतरा पैदा करती हैं। हैकर्स अपने मालवेयर को गूगल प्ले स्टोर की ऐप्स में इंस्टॉल करते हैं और यूजर्स की जानकारी चुराते हैं। इस बार भी एक ऐसे ही मालवेयर का पता चला है जिसका नाम Tekya है। इसका पता एक रिसर्च कंपनी ने लगाया है।

एक तरफ जहां कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तबाही मचा रहा है वहीं, दूसरी तरफ मोबाइल फोन यूजर्स पर Tekya वायरस का खतरा मंडरा गया है। गूगल ने प्ले स्टोर को सुरक्षित रखने के इरादे से ऐप डिवेलपर्स के लिए कड़ी नीतियां बनाई हैं। लेकिन इसके बावजूद प्ले स्टोर पर मैलिशस ऐप्स मौजूद हैं। एक बार फिर साइबर क्रिमिनल हैकर्स ने गूगल की नीतियों की धज्जियां उड़ाते हुए प्ले स्टोर को मैलिशस ऐंड्रॉयड ऐप्स से भर दिया है। इस बार उनका टारगेट इन ऐप्स के साथ टेक्या मैलवेयर के जरिए यूजर्स को अपना शिकार बनाना है। इस ऐप्स को करीब 10 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि इस मालवेयर से प्रभावित करीब 56 ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर पर देखी गईं हैं। इनमें से दो ऐप Cooking Delicious और Let Me Go (Early Access) हैं। इस मालवेयर से प्रभावित ऐप्स को अगर कोई यूजर डाउनलोड कर लेता है तो यूजर की डिवाइस को यह मालवेयर अपना शिकार बना लेता है। यह मालवेयर एड फ्रॉड पर काम करता है। इस रिपोर्ट में यह साफ किया गया है कि Tekya से प्रभावित इन ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया गया है।

रिसर्च कंपनी Check Point की रिपोर्ट के मुताबिक, हैकर्स ने इस बार Tekya नाम के मालवेयर का इस्तेमाल किया है। इसे एंड्रॉइड ऐप्स में इंस्टॉल किया गया है। रिसर्चर्स ने इस मालवेयर को कई ऐप्स में देखा है जिन्हें करीब 10 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका है। रिसर्चर्स के मुताबिक, हैकर्स इस मालवेयर के जरिए यूजर्स का डाटा चुराने की फिराक में हैं। यूजर्स को गूगल प्ले स्टोर के जरिए हैकर्स अपना निशाना बना रहे हैं।
चेक पॉइंट के शोधकर्ताओं ने पुष्टि की है कि गूगल ने उन ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है जिन्हें मैलिशस पाया गया। इसके अलावा डिवेलपर्स ने भी प्ले स्टोर से इस तरह के ऐप्स को हटा दिया है। यानी फिलहाल यूजर्स Tekya मैलवेयर से सुरक्षित हैं।
10 लाख मोबाइन फोन यूजर्स पर खतरा

टेक्या वायरस क्या है किसने की इसकी पहिचान :
Check Point रिसर्च के शधकर्ताओं ने मैलिशस ऐंड्रॉयड ऐप्स में टेक्या मैलवेयर को देखा है। उनका कहना है कि यह मैलवेयर गूगल प्ले स्टोर के जरिए यूजर्स को अपना निशाना बना रहा है। उन्होंने ऐसे कई सारे ऐप देखे जो दिखने में तो सुरक्षित थे लेकिन इनमें टेक्या मैलवेयर मौजूद था।
एक पोस्ट में अपनी रिसर्च के बारे में बताते हुए शोधकर्ताओं ने बताया कि उन्होंने प्ले स्टोर पर मैलिशस बिहेवियर वाले 56 ऐप्स की पहचान की है। इनमें से 24 ऐप्स खासतौर पर बच्चों को ध्यान में रखकर बनाए गए जैसे कि गेम्स और पजल। वहीं बाकी ऐप्स में यूटिलिटी ऐप्स जैसे कैलकुलेटर्स, ट्रांसलेटर्स और कुकिंग आदि शामिल हैं।
इन ऐप्स को डाउनलोड करने पर मैलवेयर इंस्टॉल हो जाता है और यह डिवाइस को अपना शिकार बना लेता है। हालांकि Tekya के बारे में पूरी जानकारी रिसर्चर्स की पोस्ट में उपलब्ध है। लेकिन संक्षेप में कहें तो इसे ऐड फ्रॉड के मकसद से बनाया गया है।
इन मैलिशस ऐंड्रॉयड ऐप्स को करीब 10 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका है। दूसरे शब्दों में कहें तो इन ऐप्स से करीब 10 लाख यूजर्स की सिक्यॉरिटी को खतरा है। और 10 लाख यूजर का डाटा चोरी होनी का पूरा चांस है ,

क्या वायरस समाप्त हो गया :
लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इस मैलवेयर का खतरा खत्म हो गया है। साइबर क्रिमिनल कभी भी दूसरे मैलवेयर के साथ मैलिशस ऐप्स को प्ले स्टोर पर ला सकते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि VirusTotal और Play Protect भी Tekya का पता नहीं लगा पाए थे।

No comments:

Post a comment

Popular Posts

WooCommerce